क्या खिचड़ी पक रही है, मॉरिसन जी? (खिचड़ी और ऑस्ट्रेलिया-भारत द्विपक्षीय व्यापार समझौते पर)

हाल ही में, ऑस्ट्रेलियाई प्रधान मंत्री, स्कॉट मॉरिसन ने भारतीय प्रधान मंत्री नरेंद्र मोदी को संबोधित एक ट्वीट के साथ, अपना बनाया पकवान पेश किया, वो थी खिचड़ी।

Pic 1: मॉरिसन खिचड़ी पकाते हुए।[1]

इस फोटो के साथ खिचड़ी सुर्खियों में आ गई। आइए पहले इसके बारे में बात करते हैं। मॉरिसन की तरह क्या आपको भी यह डिश पसंद है? ऐसा बताया जाता है की की अधिकांश भारतीय विभिन्न रूपो में यह स्वादिष्ट व्यंजन पसंद करते हैं ।[2] कई क्षेत्रीय विविधताओं और नामों के कारण जाने जानेवाले इस डिश की बात की कुछ और हैं! इसमे आप चावल, दाल, सब्जी, और सबका प्रयोग कर सकते हैं। ये शाही हो सकती है या सरल,  समग्री बहुत हो सकती है या थोड़ी! हालांकि खिचड़ी की विभीन रेसिपी है, लेकिन फिर भी इसे बनाने का तरीका यह व्यक्ति पर निर्भर करता है। जितने अलग व्यक्तिरेखाये उतने अलग बनाने का तरीका और उतने अलग स्वाद!

जब मैं इसके बरे में सोचती हूं, तो कभी कभी मेरे दिल में ख्याल आता है!  😃 ख्याल ये है कि, क्या खिचड़ी भारतीय ‘विविधता में एकता’ सांस्कृतिक विचारधारा का प्रतीक हैं? सारे समग्री मिल गई और एक पाकवान बन गया! इसिको एक अलग नजरिया से भी देखा जा सकता है। क्या मिली-जुली खिचड़ी, विचारों का मेल दिखलाती है? शायद इसी वजाह से 2017 में ‘राष्ट्रीय व्यंजन’ का ताज इसे पहनाया गया था! फिर अमूल ने इस्के ऊपर टिपनी करने का मोका ना गवाया! 😃

Pic 2: खिचड़ी पर अमूल का टॉपिकल।[3]

फिर भी, खिचड़ी, जब खाने के संदर्भ में उपयोग नहीं की जाती है, तो यह शब्दों का खेल है और इसके कई व्यंग्यात्मक अर्थ हैं। उदाहरण के लिए, इस ब्लॉग का शीर्षक देखें ’ क्या खिचड़ी पक रही है, मॉरिसन जी?’ आपको आई ना हसीं! 😃 CID serial के ACP प्रद्युम्न का डायलॉग याद आया ना? ‘दया! पता लगाओ क्या खिचड़ी पाक रही है!’ 😃 तो फिर मॉरिसन कौन सी खिचड़ी पका रहे हैं? इसका जवाब उनके ट्वीट में है जो उनकी खिचड़ी पाकनेवाले फोटो के साथ है। उन्होंने ट्वीट किया, ‘भारत के साथ हमारे नए व्यापार समझौते का जश्न मनाने के लिए, आज रात मैंने जो करी पकाने के लिए चुनी वह सब मेरे प्रिय मित्र प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के गुजरात प्रांत से हैं, जिसमें उनकी पसंदीदा खिचड़ी भी शामिल है…’।[4]

ऑस्ट्रेलियाई प्रधानमन्त्री मॉरिसन का ‘हमारा नया व्यापार समझौता’ ट्वीट ऑस्ट्रेलिया-भारत व्यापक आर्थिक सहयोग समझौता 2022 (AI-CECA) के बारे में है।[5] AI-CECA इस महीने ऑस्ट्रेलिया और भारत के बीच हस्ताक्षरित एक द्विपक्षीय समझौता है।[6]  मॉरिसन इस सौदे को ‘दुनिया की सबसे बड़ी अर्थव्यवस्थाओं में से एक [भारत]  का दरवाजा खोलने’ के रूप में संबोधित करते हैं।[7] इसके अलावा, वह समझौते को ‘आज दुनिया के सबसे बड़े आर्थिक समझौते में से एक’ के रूप में देखते हैं।[8] जबकि भारतीय प्रधानमन्त्री मोदी के लिए यह भारत और ऑस्ट्रेलिया के बीच द्विपक्षीय संबंधों का ‘वाटरशेड मोमेंट’ मतलब ’ऐतिहासिक क्षण’ के रूप में देखते है।[9]

तो AI-CECA क्या है? यहाँ AI-CECA व्यापार सौदे और भारत और ऑस्ट्रेलिया के लिए इसके लाभों की कुछ झलकियाँ दी गई हैं।[10]

– विशेषज्ञों का अनुमान है कि द्विपक्षीय व्यापार 27.5 बिलियन अमेरिकी डॉलर से बढ़कर 45 बिलियन अमेरिकी डॉलर हो जाएगा, जिससे 2027 तक यह लगभग दो गुना हो जाएगा।

– यह व्यापार समझौता देशों के बीच मौजूदा द्विपक्षीय व्यापार की गतिशीलता को बदल देगा। (वर्तमान में सबसे बड़े व्यापारिक भागीदार पैमाने की रैंकिंग पर, भारत ऑस्ट्रेलिया का 7वां व्यापार भागीदार है जबकि ऑस्ट्रेलिया इस पैमाने पर 17वें स्थान पर है)।

– कृषि, रोजगार, सेवा, निवेश, आयात-निर्यात, प्रौद्योगिकी, विज्ञान और नवाचार, कृषि, कौशल विकास, अंतरिक्ष प्रौद्योगिकी और शिक्षा और अनुसंधान जैसे कई क्षेत्रों को लाभ होगा।

– बाजार पहुंच में वृद्धि। साथ ही टैरिफ में कमी।

– संरचना ‘सकारात्मक सूची’ से टैरिफ कम/मुक्त ‘नकारात्मक सूची’ की ओर बढ़ रही है।

– सरकारी खरीद अब भारतीय और ऑस्ट्रेलियाई कंपनियों के लिए खुली है। वे सरकारी अरबों डॉलर की निविदाओं के लिए बोली लगा सकते हैं।

– सेवा क्षेत्र का उदारीकरण किया जा रहा है।

– भारतीय आईटी कंपनियों और उनके अपतटीय आय और दोहरे कराधान के मुद्दों को समायोजित करने के लिए ऑस्ट्रेलियाई कर कानूनों में संशोधन किया जाएगा।

– ऑस्ट्रेलिया 95% टैरिफ लाइनों के लिए शुल्क मुक्त पहुंच प्रदान करता है। इनमें मशीनरी, आभूषण, फर्नीचर, कपड़ा, चमड़ा और भारतीय फार्मा शामिल हैं।

– भारत ऑस्ट्रेलिया वैट आयात पर 40% टैरिफ हटाने की पेशकश करता है (3-10 वर्षों की अवधि के भीतर और कमी के साथ)।

– डिग्री धारकों, कर्मचारियों और हॉलिडे वीजा धारकों को समायोजित करने के लिए वीजा नियमों में संशोधन किया जाएगा।

– यह सौदा खेल, बुनियादी ढांचे, ऊर्जा, संसाधन, पर्यटन, वित्तीय सेवाओं, कृषि, शिक्षा और स्वास्थ्य सेवा के क्षेत्रों में ऑस्ट्रेलियाई व्यापार को विशाल भारतीय बाजार के लिए खोलता है।

निष्कर्ष के तौर पर, राज्यों या क्षेत्रों के बीच अरबों डॉलर के द्विपक्षीय/बहुपक्षीय मुक्त व्यापार समझौते खिचड़ी की तरह होते हैं: अनुकूलित, विविधता और विविध हितों का एक उदार मिश्रण। प्रतिभागी विभिन्न सामग्री मतलब विभिन्न क्षेत्रों चर्चा में लाते हैं। उदाहरण के लिए, AI-CECA टैरिफ हटाने से संबंधित है और इसमें खेल, फार्मा, कृषि, सेवा और प्रौद्योगिकी जैसे कई क्षेत्र शामिल हैं। इन विविध व्यापार हितों को खिचड़ी की तराह, ‘विविधता में एकता’ सिद्धांत का पालन करने की आवश्यकता होति है और समझौते में एकता लाने के लिए एक दूसरे के पूरक होने की आवश्यकता है। फिर इसके परिणामस्वरूप समृद्धि दरवाजे पर दस्तक देती है

खैर, भारत और ऑस्ट्रेलिया ने अपना AI-CECA द्विपक्षीय व्यापार समझौता कर लिया। आप का कौनसी खिचड़ी पकाने का इरदा है?

[1] “Australia PM Cooks ‘Friend’ Modi’s ‘Favourite’ Khichdi, ‘Celebrates’ New Trade Ties,” Hindustan Times, April 9, 2022, https://www.hindustantimes.com/world-news/australia-pm-cooks-friend-modi-s-favourite-khichdi-celebrates-new-trade-ties-101649518520453.html.

[2] Aashana Ahuja, “Khichdi: What Makes It the Ultimate Indian Comfort Food?,” NDTV Food, October 12, 2017, https://food.ndtv.com/food-drinks/khichdi-what-makes-it-the-ultimate-indian-comfort-food-1439821

[3] “Amul Hits :: Amul – the Taste of India,” amul.com, November 2017, https://amul.com/m/amul-hits?s=2017&l=2.

[4] As above 1.

[5] “Australia-India Comprehensive Economic Cooperation Agreement (AI-CECA),” Australian Government Department of Foreign Affairs and Trade, April 2022, https://www.dfat.gov.au/trade/agreements/negotiations/aifta/australia-india-comprehensive-economic-cooperation-agreement.

[6] “India-Australia Sign Trade Pact; Bilateral Trade to Reach $45 Bn in 5 Years | IBEF,” www.ibef.org, April 4, 2022, https://www.ibef.org/news/india-australia-sign-trade-pact-bilateral-trade-to-reach-45-bn-in-5-years.

[7] Zoe Zaczek, “PM Declares Australia Is Opening ‘One of the Biggest Economic Doors’ in the World,” Sky News, April 2, 2022, https://www.skynews.com.au/australia-news/morrison-declares-australia-is-opening-one-of-the-biggest-economic-doors-in-the-world-in-signing-historic-trade-deal-with-india/news-story/5f014733edc0774647d9f669112c38c8

[8] As above 7.

[9] IANS, “IndAus ECTA ‘Watershed’ Moment for Bilateral Relations, Says PM Modi,” Business Standard India, April 2, 2022, https://www.business-standard.com/article/economy-policy/indaus-ecta-watershed-moment-for-bilateral-relations-says-pm-modi-122040200572_1.html.

[10] As above 5, 6 and 9.

2 Comments

  1. Vinayak Nayak

    Ye vicharo ki Khichde he. Yaha pe dono desho ki garaj ke anurup samjote ki dal or chawal ko ikata paka kar uspe umeedonka tadka laga jayega.Jis ki khusbhu or swad dono deshonke logon ko ek ache Bandhan me banddege.

    • SAARV

      Sahi kahan aapne, Vinayakji! Mil gaye dal, chawal…usey diya tadka… ban gaya dvipakshiya samjota!😊

Leave a Reply

Your email address will not be published.